Breaking News

भगवान भाव के भूखें है-राम जी भाई

मैनपुरी:शहर के पंजाबी कालोनी स्थित श्री एकरसानंद आश्रम में परम पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी श्री हरिहरानंद सरस्वती महाराज के सानिध्य में चल रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के छटवें दिवस श्रीमद् भागवत कथा का अमृतपान कराते हुए वृन्दावन धाम के कथावाचक आचार्य रामजी भाई ने कहाकि मनुष्य जैसा कर्म करता है ईश्वर उसे वैसा फल देता है। मानव तन मिला तो उसका सदुपयोग करो।

भाजपा की प्रचंड जीत पर श्री एकरसानन्द आश्रम में जलाए गए दीप व चलाई गई आतिशबाजी

उन्होनें कहाकि भगवान भाव के भूखें है उन्हें कोई भी सच्चे हृदय से याद करता है तो वे नंगे पाॅंव दौड़े चले आते है। भगवान का भजन करो तो मन से करो, दिखावे की भक्ति करने से भगवान प्रसन्न नहीं होते है। भाव से पल भर भगवान का स्मरण करने मात्र से भगवान प्रसन्न होते है।इस दौरान आचार्य श्री ने श्रोताओं को कृष्ण-रूक्मणी विवाह की कथा का अमृतपान कराया। कथा के विश्राम पर परीक्षित डा. ग्या प्रसाद दुबे, श्रीमती केशर कुमारी दुबे, गंगा प्रसाद दुबे श्रीमती मंजू दुबे, महेश चन्द्र दुबे, श्रीमती गीता दुबे ने आरती की।

जिला पुलिस प्रमुख डा0अजय पाल शर्मा के निर्देशन मे एस पी ग्रामीण शैलेन्द्र सिंह द्वारा किया गया पुलिस लाइन परेड

इस मौके पर डा.संजीव मिश्रा वैद्य जी, बृजेश शाष्त्री परमार्थ धाम बटेश्वर, राधा रानी (बुआ जी)अभिषेक मिश्र, आयुष पाण्डेय, सूर्यकांत त्रिपाठी, प्रधानाचार्य नीरज बाबू, डा. गौरव दुबे श्रीमती रेनू दुबे, इंजी. सौरभ दुबे, श्रीमती नीतू दुबे, इंजी. शशांक दुबे, रितु दुबे, इंजी. मोहित दुबे, खुशबू दुबे, संदीप चतुर्वेदी, सुभाष मिश्रा, श्याम जी दीक्षित, राघव, नायरा, बानी आदि मौजूद रहे।