Breaking News

250 लेखकों को क्‍यों किया जाएगा इनवाइट? RSS की लखनऊ में होगी बड़ी मीटिंग

लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव को देखते हुए आरएसएस ऑर्टिकल्‍स के जरिए राष्‍ट्रवाद को बढ़ावा वाले लेखकों के साथ सितंबर में दो दिन की मीटिंग करने जा रही है। ये मीटिंग हिंदी भाषी राज्‍यों के लेखकों के साथ 24 और 25 सितंबर को लखनऊ में होगी।250 लेखकों को किया जा रहा है इनवाइट…
– जानकारी के मुताबिक, देशभर के लगभग 35 आरएसएस प्रांतों से करीब 250 लेखकों को मीटिंग में शामिल होने के लिए इनवाइट किया जाएगा।
– इसमें हाल की घटनाओं को ध्‍यान में रखते हुए राष्‍ट्रवाद से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होगी।
– मीटिंग की थीम होगी- भारत की भारतीय अवधारणा बनाम भारत की अभारतीय अवधारणा।
– आरएसएस अवध प्रांत का प्रचार विभाग इस मीटिंग को ऑर्गनाइज करा रहा है।
– इसमें ऑल इंडिया प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य, उनके डिप्‍टी जे नंदकुमार और 2 सह कार्यवाहक, दत्‍तात्रेय होसबोले या कृष्‍णगोपाल भी यहां मौजूद रहेंगे।
हिंदी भाषी राज्‍यों के लेखकों को किया गया इनवाइट
– अवध सह प्रांत प्रचार प्रमुख दिवाकर अवस्‍थी ने बताया कि हिंदी भाषी राज्‍यों के लेखकों को इनवाइट किया गया है।
– उम्‍मीद की जा रही है कि कम से कम 35 प्रांत से 3 से 4 लेखक तो मीटिंग में हिस्‍सा लेंगे।
जम्‍मू-कश्‍मीर हुई हिंसा और जेएनयू में लगे देश विरोधी नारों पर लेखकों की जानी जाएगी राय
– आरएसएस ऑफिस से जुड़े एक पदाधिकारी ने बताया कि उन लेखकों को इनवाइट किया जा रहा है, जो हिंदी भाषा के प्रिंट मीडिया और वेब पोर्टल्‍स पर राष्‍ट्रवाद और दूसरे मुद्दों पर लिखते हैं।
– जैसे बीजेपी के पूर्व एमपी राजनाथ सिंह ‘सूर्य’ और अवध प्रांत से पूर्व एमएलसी ह्दय नारायण दीक्षित को भी इनवाइट किया जाएगा।
– आरएसएस मीटिंग में शामिल होने वाले लेखकों से जम्‍मू-कश्‍मीर में हुई हिंसा और जेएनयू कैंपस में देश विरोधी लगे नारों पर उनके विचार जानेगी।
– कानपुर में एक हफ्ते तक चली आरएसएस की मीटिंग के बाद ये उसका दूसरा बड़ा इवेंट होगा।
– बता दें, कानपुर में हुई मीटिंग पर आरएसएस स्‍पोक्‍सपर्सन मनमोहन वैद्य का कहना है कि ये मीटिंग संघ को लेकर है, इसका बीजेपी या यूपी विधानसभा इलेक्‍शन से कोई मतलब नहीं है।